Hanuman Chalisa PDF Download in Hindi | हनुमान चालीसा PDF 2023

Hanuman Chalisa pdf: Hanuman chalisa pdf, श्री राम वंदना स्तुति pdf, हनुमान स्तुति वंदना pdf, hanuman chalisa pdf download, हनुमान चालीसा डाउनलोड करनी है, hanuman chalisa book pdf, sankat mochan hanuman chalisa pdf, हनुमान चालीसा संकट मोचन बजरंग बाण pdf download, हनुमान चालीसा पीडीएफ फाइल, हनुमान वंदना मंत्र pdf को पाने के लिए आपको आर्टिकल को ध्यान से पढना है और फिर डाउनलोड बटन पर क्लिक करके आपको पीडीऍफ़ डाउनलोड कर लेना है.

रामायण के रचियता श्री गोस्वामी तुलसीदास जी द्वारा रचित हनुमान जी की वंदना और उनकी प्रार्थना के लिए Hanuman Chalisa PDF पाठ और पाठ के अर्थ सहित यहाँ पर आपको पढने को मिलेगा, और आप इसकी पीडीऍफ़ को फ्री में डाउनलोड कर पाएंगे. इसलिए आप लोगो से निवेदन है कि आप लोग इस Hanuman Chalisa को अंत तक पढ़े और लास्ट में दी हुई पीडीऍफ़ को भी डाउनलोड करें.

ऐसी ही धार्मिक पीडीऍफ़ को आप लोग डाउनलोड करना चाहते है तो इस वेबसाइट RDS Kendra का नाम याद कर लें, और हमारे टेलीग्राम ग्रुप को भी ज्वाइन कर लें, जिससे आपसे कोई भी आर्टिकल मिस ना हो.

Hanuman Chalisa PDF

इस हनुमान चालीसा का पाठ हिंदी में पढके आप लोग भगवान हनुमान के परमभक्त बन सकते है. Hanuman Chalisa PDF का डेली पाठ करने से मन शांत रहता है, आपके मन की निष्ठां , पराकाष्ठा , आस्था एवं आत्मशक्ति में बहुत वृद्धि होती है और मन को शान्ति मिलती है.

Hanuman Chalisa PDF, श्री राम वंदना स्तुति pdf, हनुमान स्तुति वंदना pdf,
Hanuman Chalisa PDF
PDF NameHanuman Chalisa PDF
PDF QualityHigh Defination

Sankat Mochan Hanuman Chalisa Paath

|| हनुमान चालीसा चौपाई दोहा: ||
श्रीगुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि।
बरनऊं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।।
बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन-कुमार।
बल बुद्धि बिद्या देहु मोहिं, हरहु कलेस बिकार।।

|| हनुमान चालीसा चौपाई: ||
जय हनुमान ज्ञान गुन सागर।
जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।
रामदूत अतुलित बल धामा।
अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।।
महाबीर बिक्रम बजरंगी।
कुमति निवार सुमति के संगी।।
कंचन बरन बिराज सुबेसा।
कानन कुंडल कुंचित केसा।।
हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै।
कांधे मूंज जनेऊ साजै।
संकर सुवन केसरीनंदन।
तेज प्रताप महा जग बन्दन।।
विद्यावान गुनी अति चातुर।
राम काज करिबे को आतुर।।
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया।
राम लखन सीता मन बसिया।।
सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा।
बिकट रूप धरि लंक जरावा।।
भीम रूप धरि असुर संहारे।
रामचंद्र के काज संवारे।।
लाय सजीवन लखन जियाये।
श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।
रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई।
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई।।
सहस बदन तुम्हरो जस गावैं।
अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं।।
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा।
नारद सारद सहित अहीसा।।
जम कुबेर दिगपाल जहां ते।
कबि कोबिद कहि सके कहां ते।।
तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा।
राम मिलाय राज पद दीन्हा।।
तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना।
लंकेस्वर भए सब जग जाना।।
जुग सहस्र जोजन पर भानू।
लील्यो ताहि मधुर फल जानू।।
प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं।
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं।।
दुर्गम काज जगत के जेते।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।
राम दुआरे तुम रखवारे।
होत न आज्ञा बिनु पैसारे।।
सब सुख लहै तुम्हारी सरना।
तुम रक्षक काहू को डर ना।।
आपन तेज सम्हारो आपै।
तीनों लोक हांक तें कांपै।।
भूत पिसाच निकट नहिं आवै।
महाबीर जब नाम सुनावै।।
नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।
संकट तें हनुमान छुड़ावै।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।
सब पर राम तपस्वी राजा।
तिन के काज सकल तुम साजा।
और मनोरथ जो कोई लावै।
सोइ अमित जीवन फल पावै।।
चारों जुग परताप तुम्हारा।
है परसिद्ध जगत उजियारा।।
साधु-संत के तुम रखवारे।
असुर निकंदन राम दुलारे।।
अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता।
अस बर दीन जानकी माता।।
राम रसायन तुम्हरे पासा।
सदा रहो रघुपति के दासा।।
तुम्हरे भजन राम को पावै।
जनम-जनम के दुख बिसरावै।।
अन्तकाल रघुबर पुर जाई।
जहां जन्म हरि-भक्त कहाई।।
और देवता चित्त न धरई।
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई।।
संकट कटै मिटै सब पीरा।
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा।।
जै जै जै हनुमान गोसाईं।
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।।
जो सत बार पाठ कर कोई।
छूटहि बंदि महा सुख होई।।
जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा।
होय सिद्धि साखी गौरीसा।।
तुलसीदास सदा हरि चेरा।
कीजै नाथ हृदय मंह डेरा।।

|| दोहा: ||
पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।।

हनुमान चालीसा डाउनलोड करनी है

यदि आप Hanuman Chalisa pdf Download करना चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह पर है, आपको नीचे डाउनलोड बटन दिखेगा, जिस पर क्लिक करके आप आसानी से इस पीडीऍफ़ फाइल को डाउनलोड कर सकते है. हनुमान चालीसा डाउनलोड करनी है.

Hanuman Chalisa pdf
Hanuman Chalisa pdf

Hanuman Chalisa PDF Download

आप यहाँ से हनुमान चालीसा का पाठ कर सकते है और हनुमान चालीसा पीडीऍफ़ भी डाउनलोड कर सकते है. यह हनुमान जी के भक्तो के लिए एकदम फ्री है. यदि आप हनुमान जी के सच्चे भक्त है तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें.

click-here

हनुमान चालीसा पाठ करने की विधि

बजरंगवली श्री हनुमान जी का पाठ करने के लिए व्यक्ति को सबसे पहले स्नान करके शुद्ध होना अति आवश्यक है. इसके आलावा ओउर्व दिशा की आसन लगा कर ध्यान की अवश्था में बैठना चाहिए. सामने हनुमान जी की प्रतिमा या श्रीराम जी के दरबार की फोटो होना चाहिए.

सीधे हाथ में चावल, पुष्प ( फूल ) और दूर्वा लेकर in मंत्रो का का उच्चारण करना चाहिए, और हनुमान जी में ध्यान लगाना चाहिए.

Online Hanuman Chalisa Video

निष्कर्ष: Hanuman Chalisa pdf

फ्रेंड्स, उम्मीद है कि आप लोगो ने सफलतापूर्वक Hanuman Chalisa pdf Download कर लिया होगा, डाउनलोड करने के साथ ही आप लोगो ने यहाँ पर Hanuman Chalisa Lyrics और Hanuman Chalisa Video भी आप लोगो ने देखा होगा. यदि आप भी भगवान श्रीराम भक्त हनुमान के भक्त है तो आप लोगो से निवेदन है इस हनुमान चालीसा को हर हिन्दू तक भेजने का कष्ट करें.

ऐसे ही धार्मिक पोस्ट को पाने के लिए आप इस वेबसाइट को बुकमार्क करके हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन कर सकते है, जिससे हर पोस्ट आपको टाइम पे मिल सकें.

FREE TIP: अगर आप यह आर्टिकल फिर से पढ़ना चाहते हो तो आप Google में यह Keyword सर्च करें।  “Hanuman Chalisa pdf Download RDS Kendra” यह Keyword सर्च करते ही आपके सामने RDSKendra.co.in वेबसाईट का यही आर्टिकल खुल जाएगा। आपका आभार।

FAQs

Q: हनुमान चालीसा डाउनलोड करनी है, कैसे करें?

Ans: हनुमान चालीसा को डाउनलोड करने आपको RDS Kendra पर हनुमान चालीसा के पोस्ट में डाउनलोड बटन दिया गया है जहाँ से आप डाउनलोड कर सकते है.

Q: हनुमान चालीसा के रचियता कौन है?

Ans: हनुमान चालीसा के रचियता गोस्वामी तुलसीदास है.

Q: हनुमान चालीसा डाउनलोड करनी है

A: Hanuman Chalisa PDF को डाउनलोड करने के लिए आप RDS Kendra वेबसाइट को विजिट कर सकते है.

Hanuman Chalisa PDF Download की तरह अन्य Important Link :-

click-here

Join TelegramJoin Now
Back CategoryGet All PDF
Join On QouraJoin Now
Back To HomeClick Here

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top