Bajrang Baan Lyrics In Hindi । Bajrang Baan Lyrics Free Pdf 2024

Spread the love

Bajrang Baan Lyrics In Hindi: हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार सभी देवी-देवताओं में राम भक्त और अंजनी पुत्र वीर बजरंगबली ऐसे देवता हैं जो अपने भक्तों को संकटों, संकटों से मुक्ति दिलाते हैं। भय और बीमारियाँ। हनुमान जी शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवता हैं और आज भी वे सशरीर इस धरती पर विचरण करते हैं। भगवान हनुमान चिरंजीवी हैं। भक्त भगवान हनुमान को प्रसन्न करने और अपनी सभी मनोकामनाएं पूरी करने के लिए उनकी विधि-विधान से पूजा करते हैं।

सभी मनोकामनाओं की पूर्ति और भय से मुक्ति के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करने के साथ-साथ बजरंग बाण का भी पाठ किया जाता है। हनुमान चालीसा के अलावा बजरंग बाण का पाठ करना हनुमानजी की पूजा करने और उनका आशीर्वाद पाने का सबसे अचूक उपाय माना जाता है। बजरंग बाण का नियमित पाठ करने से कुंडली के ग्रह दोष समाप्त हो जाते हैं।

विवाह में आ रही रुकावटें दूर होती हैं। गंभीर बीमारियों की स्थिति में यह आराम या आराम दिलाता है। व्यक्ति को कार्यक्षेत्र में अच्छी सफलता मिलने लगती है। समाज में मान-सम्मान बढ़ता है और वास्तु दोष दूर होते हैं। आइए पढ़ते हैं बजरंग बाण का संपूर्ण पाठ.

Bajrang Baan Lyrics In Hindi

प्रेम प्रतीतिहिं कपि भजै। सदा धरैं उर ध्यान।।

तेहि के कारज तुरत ही, सिद्ध करैं हनुमान।।

सूचना

  • बजरंग बाण का पाठ करने से भय, रोग, विपत्ति और कष्टों से मुक्ति मिलती है।
  • मंगलवार और शनिवार को सूर्योदय से पहले बजरंग बाण का पाठ करें। सुबह जल्दी उठें, स्नान करें और साफ कपड़े पहनें। शुद्ध अंतःकरण और पूर्ण श्रद्धा के साथ हनुमानजी की तस्वीर या मूर्ति के सामने हाथ जोड़कर खड़े हो जाएं और बजरंग बाण का जाप करें। हनुमानजी को सूखा नारियल और गुड़ का भोग लगाएं और उनके चरणों में सरसों का तेल, उड़द की दाल और सिन्दूर चढ़ाएं।
  • बजरंग बाण की रचना संत तुलसीदास ने 16वीं शताब्दी में अवधी बोली में की थी। उन्होंने लोकप्रिय भजन हनुमान चालीसा की भी रचना की।
  • बजरंग बाण और हनुमान चालीसा का एक साथ पाठ करना अत्यंत लाभकारी माना जाता है।
click-here

Join TelegramJoin Now
Back CategoryMovie Reviews & Lyrics
Join QuoraJoin Now
Back HomeClick Here

Spread the love